पाकिस्तान का शकरगढ़ सीमा के सामने सबसे बड़ा लॉन्चिंग पैड बन गया है।

पाकिस्तान दुनिया भर की सीमा पर सांबा कठुआ सेक्टर के सामने आतंकवादियों की एक सेना को बढ़ा रहा है। इसके लिए ट्रेंडी नो-हाउ सिस्टम वाला एक लॉन्चिंग पैड तैयार किया गया है। पाकिस्तान के शकरगढ़ इलाके में बने इस लॉन्चिंग पैड में एक आतंकवादी रहता है। सूत्रों के मुताबिक, यहां आतंकवाद के पाठ्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। तालिबान और अफ़गानिस्तान जैसे अंतरराष्ट्रीय स्थानों से वापस आने वाले आतंकवादियों की शिर्क शकरगढ़ लॉन्चिंग पैड पर कुशल है। तैयार होने के बाद इन आतंकवादियों को भारतीय क्षेत्र में भेज दिया जाता है। यही मकसद है कि सांबा और कठुआ सीमा पर आतंकवादियों की घुसपैठ की नई रणनीति बनाई जाए।

यह भी सीखें: चीन को सबक सिखाने के लिए लद्दाखियों ने सेना के साथ सख्ती की, राष्ट्र का प्यार देखा

राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने अतिरिक्त रूप से अपनी जांच में पाया है कि पाकिस्तान ने शकरगढ़ में बहुत ही ट्रेंडी पता के साथ एक लॉन्चिंग पैड तैयार किया है। सूत्रों का कहना है कि {एक} 100 से अधिक आतंकवादियों के कर्मचारी इस लॉन्चिंग पैड पर लगे हुए हैं।

इसमें आतंकवादी कमांडर बैठते हैं और भारतीय क्षेत्र में हमला करने की साजिश रचते हैं। आतंकवादियों का एक कर्मचारी ओजी कर्मचारियों (आतंकवादियों के सहायकों) और भारतीय क्षेत्र में मौजूद आतंकवादियों के साथ एक संचार समुदाय पर काम करता है। एक कर्मचारी हथियारों और फंड को बढ़ाने के लिए काम करता है। दूसरा स्टाफ हमले की योजना और गोला बारूद की तैयारी में कोचिंग प्रदान करता है।

Leave a Comment