पीएम मोदी ने कोरोना को लेकर जनता को किया सावधान, कहा- ‘जब तक कोई दवा नहीं, कोई ढिलाई नहीं’

कोरोना वायरस के लक्षण नियमित आधार पर बढ़ रहे हैं। उदाहरणों में वृद्धि के पीछे व्यक्तियों की लापरवाही भी एक मकसद है। ऐसे ही समय में, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को व्यक्तियों को एक अवसर के दौरान कोरोना की ओर झुकाव नहीं करने का सुझाव दिया।

पीएम मोदी ने लोगों को निर्देश दिया कि जब तक कोरोना वायरस दवाओं में नहीं बदल जाता है तब तक उन्हें सतर्क रहने की जरूरत है। व्यक्तियों को इस बारे में अधिक स्पष्ट करने के लिए, पीएम यहां एक नारे के साथ उठे।

प्रधानमंत्री ने उल्लेख किया, “जब तक दवा न हो, कोई ढिलाई नहीं है।” इसी समय, उन्होंने अतिरिक्त रूप से मास्क और सामाजिक दूरी के महत्व के बारे में कोरोना की ओर एक नारा दिया। पीएम ने उल्लेख किया, ‘दवा के अलावा कोई शिथिलता नहीं है। दो गज, एक मास्क अनिवार्य है।

ALSO READ: युवा ने पीएम 370 और पीएम से ट्रिपल तालक की बात की, मोदी ने पूछा- क्या आप चुनाव लड़ना चाहेंगे?

पीएम मोदी ने यह नारा प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के नीचे मध्य प्रदेश के 1.75 लाख घरों के डिजिटल ‘आवास प्रवेश’ अभियान को संबोधित करते हुए दिया। इसी समय, मध्य प्रदेश में शुक्रवार तक 83,619 व्यक्तियों को कोरोना वायरस से दूषित पाया गया था। हालांकि, अब तक राज्य में वायरस के कारण 1,691 व्यक्तियों की मौत हो चुकी है।

दूसरी ओर, राष्ट्र ने कोरोना में लगातार तीसरे दिन संक्रमण की घटना देखी। यह तीसरा दिन है जब 95 हजार से अधिक नए उदाहरण जल्द या बाद में सामने आए हैं। शनिवार को 97,570 नए उदाहरण सामने आए थे।

इन नए उदाहरणों के साथ, राष्ट्र में कोविद -19 पीड़ितों की विविधता 46 लाख 59 हजार से अधिक हो गई है। लेकिन, सहायता की बात यह है कि बीमारी से उबरने वाले व्यक्तियों की विविधता अलग-अलग है। ज्ञान के अनुसार, 36 लाख 24 हजार से अधिक व्यक्ति अब तक ठीक हो चुके हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा शनिवार की सुबह तक के ज्ञान के अनुसार, अंतिम 24 घंटों में 1,201 व्यक्तियों के बेजान होने के साथ जीवन-यापन की दर 77,472 हो गई है। देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 46,59,985 हो गए हैं, जिनमें से 9,58,316 व्यक्ति वर्तमान प्रक्रिया चिकित्सा और 36,24,197 चिकित्सा के बाद बीमारी से उबर चुके हैं।

Leave a Comment