पुलिस कॉलोनी में डेढ़ बजे टीचर कॉलोनी में संदिग्ध लोगों के आने की सूचना

  • बाहरी कॉलोनियों में संदिग्धों की आवाजाही बढ़ गई

कोरोना से बचने के लिए लोगों को जागरूक करने के साथ-साथ पुलिस कर्मी भी अपना मूल कर्तव्य बड़ी सावधानी से निभा रहे हैं। शनिवार-रविवार दोपहर 1.30 बजे एक ऐसा ही मामला सामने आया। दो संदिग्ध लोगों के दिखाई देने पर मंडी क्षेत्र के शिक्षकों को कंट्रोल रूम से लेकर थाने की पुलिस कांस्टेबल तक गश्त के लिए अलर्ट कर दिया गया था। सीसीटीवी कैमरों से लेकर जवानों ने इलाके की तलाशी ली, लेकिन संदिग्ध युवक पुलिस की पुकार सुनकर ही भाग गए। कॉलोनी की चौकीदार पूनमचंद ने बताया कि दो कॉलोनी में युवक बाइक पर घूम रहे थे। कॉलोनी के दूसरे हिस्से से बाइक की हेडलाइट को देखकर, पहले तो यह समझा गया कि कॉलोनी में एक बंदी होगा, लेकिन जब संदिग्ध युवक बाइक पर चलने लगा, तो उसे शक हुआ और उसने पुलिस को सूचना दी। यह जानकारी कुछ निवासियों के परिचितों के माध्यम से नियंत्रण कक्ष तक भी पहुंची। इस पर गश्त करते हुए कांस्टेबल प्रदीप सिकरवार और कृष्णपाल सिंह ने इलाके में घूमकर तलाशी ली। कुछ निवासी भी जाग गए। पुलिस और निवासियों के कॉल के कारण, संदिग्ध बदमाश नहर के माध्यम से भाग गए। कांस्टेबल सिकरवार और सिंह ने कहा कि शहर के बाहरी इलाके की कॉलोनियों में प्रवेश करने के लिए कई रास्ते छोड़ दिए गए हैं। ऐसे में स्थानीय लोगों की सक्रियता भी जरूरी है। दोनों कांस्टेबलों ने चौकीदार सहित निवासियों को सलाह देते हुए कहा कि तुरंत संदिग्ध गतिविधि को देखें और पुलिस को तुरंत सूचित करें। दो माह पहले शिक्षक की कॉलोनी में कुएं में पांच मोटरों से बदमाशों ने स्कूटी चुराई थी। तीन घर के ताले भी टूटे हुए थे।

Leave a Comment