गांवों में बाढ़, बचाव कार्यों से सेना निपटती है

सेना ने बाढ़ से निबटा, गांवों में बचाया

होशंगाबाद आपदा के अवसरों में, सेना मुस्तैदी के साथ शामिल होती है। जिले में भी, सैन्य ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में प्रवेश कर लिया है। रविवार की सुबह से, जवान बाबई के गाँवों में पहुँच गए, जहाँ उन्होंने बचाव शुरू किया। इससे पहले शनिवार रात के समय 10 बजे, सेना भोपाल से यहां पहुंची और होशंगाबाद जिले में बाढ़ की देखभाल करने के लिए प्रवेश लिया।

सेना के अधिकारियों ने कलेक्टर धनंजय सिंह और विभिन्न जिला अधिकारियों के साथ एक सभा की। जिसमें कलेक्टर ने जिले की भौगोलिक स्थिति के संबंध में जानकारों को मार्ग बताया और बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के बारे में जानकारी दी। नर्मदा का जल स्तर रात के समय से लगातार कम होने लगा है। सुबह 4 बजे नर्मदा का जल चरण 970 फीट था।

बालाभेट के साथ मिलकर गाँवों से बचाव शुरू हुआ

बाढ़ प्रभावित इलाकों में रविवार सुबह से सेना ने मोर्चा संभाल लिया है। तवा पुल से सैन्य नाव को निकाला गया। बालाभेट के साथ प्राथमिक बाढ़ प्रभावित गांवों में बचाव अभियान शुरू किया गया है। जिला प्रशासन द्वारा नर्मदा कॉलेज में बाढ़ सहायता शिविर की व्यवस्था की गई है। जहां बाढ़ प्रभावित लोगों को बचाया गया है। रविवार सुबह से ही शिवहर में नाश्ते के सामान वितरित किए गए थे। जिला प्रशासन द्वारा नर्मदा कॉलेज बाढ़ राहत शिविर में चाय का वितरण किया गया।