अभिवादन ० पितृ पक्ष: पुरी

अभिवादन ० पितृ पक्ष: पितृ पक्ष सामूहिक रूप से पूर्णिमा और प्रतिपदा के संयोग से शुरू हो रहा है। मृतक पिताओं को श्राद्ध तर्पण दिया जाएगा। पितृ पक्ष के भीतर नए घटकों की खरीद निषिद्ध है। ——–