स्पा सेंटर मामले में पुलिस गिर गई, एक लाइन हाजिर, 6 निलंबित

दिल्ली के तिलकनगर में स्पा इंटरकोर्स रैकेट मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में सात पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया गया है। एक पुलिसकर्मी को लाइन साबित किया गया है जबकि 6 पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है।

दिल्ली में एक स्पा सेंटर के मामले में, पश्चिमी जिले के वरिष्ठ कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने 7 पुलिसकर्मियों के विरोध में कड़ा प्रस्ताव लिया है, जिन्होंने मामले में लापरवाही की थी। पुलिस अधिकारी के अनुसार, एक एसआई लाइन को मान्यता दी गई है, जबकि बीट के एक एएसआई, एक हेड कांस्टेबल और चार अलग-अलग कांस्टेबल को इस मामले में निलंबित कर दिया गया है।

सच में, दिल्ली महिला आयोग ने तिलक नगर में संभोग रैकेट का भंडाफोड़ किया है। दिल्ली महिला आयोग की 181 हेल्पलाइन पर, एक व्यक्ति जिसे जाना जाता है और वह जानता है कि तिलक नगर में कई स्पा लॉकडाउन के माध्यम से अंधाधुंध काम कर रहे हैं और वेश्यावृत्ति का उद्यम कर रहे हैं।

आलोचना के कारण, जल्दी ही आयोग की सदस्य किरण नेगी को तुरंत दिल्ली की महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल और एक दल का सदस्य बना दिया गया। जब महिला आयोग का दल पुलिस के साथ स्पा में पहुंचा, तो खरीदारों को आपत्तिजनक स्थिति में खोजा गया था। जब रिसेप्शन पर बैठी महिला से प्रोपराइटर का नाम लेने का अनुरोध किया गया, तो प्रोपराइटर डर गया और उसने अपना टेलीफोन बंद कर दिया।

पुलिस वहां मौजूद 5 ग्राहकों को पुलिस स्टेशन ले गई और इसी तरह स्पा में काम करने वाली सभी महिलाओं के बयान दर्ज किए। पुलिस ने मौके से सीसीटीवी फुटेज को भी जब्त कर लिया है और एफआईआर दर्ज कर ली है।